NEW DELHI. Online Yoga training programme in run-up to International Day of Yoga 2021///हिन्दू कालेज में हमारे समय की कविता पर व्याख्यान में अशोक वाजपेयी///NEW DELHI. Yoga and Naturopathy to aid the Psychosocial Rehabilitation of Covid-19 Patients////Indian Army postpones Common Entrance Exam//CHANDIGARH. - “Save the Earth Week Celebrations” Kickstarts at UIPS,PU///VIJAYAWADA: Jagananna Vidya Deevena: Rs 671 cr released to 10.8 lakh students as first tranche///NEW DELHI. Loan moratorium: Centre asks banks to foot 'interest on interest' bill///CHANDIGARH.PUAA plants Trees on World Earth Day///NEW DELHI. MeitY announces #FOSS4GOV Innovation Challenge to accelerate adoption of Free and Open Source Software (FOSS) In Government/////
कोविड-19 संकट के बीच देश में पांच लाख लोगों को दिया
कोविड-19 संकट के बीच देश में पांच लाख लोगों को दिया रोजगार

-नितिन गडकरी ने केवीआईसी की उपलब्धि की सराहना की


नई दिल्ली -कोविड-19 महामारी के चलते उपजे आर्थिक निराशा के बीच खादी और ग्रामोद्योग आयोग (केवीआईसी) ने प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम (पीएमईजी) के तहत रोजगार सृजन में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन दर्ज कराया है। 31 मार्च को समाप्त होने वाले वित्त वर्ष 2020-21 में, जो देशव्यापी लॉकडाउन से काफी हद तक प्रभावित था, केवीआईसी ने लॉन्च के बाद 2188.78 करोड़ रुपये व्यय कर पीएमईजीपी के तहत 5,95,320 रोजगारों का सृजन किया जो 2008 में उसके शुरू किए जाने के बाद से सबसे अधिक है। 2020-21 में, केवीआईसी ने पूरे देश में 74,415 परियोजनाएं शुरू कीं। मध्यप्रदेश की कई स्टार्टअप महिला उद्यमियों को रोजगार सृजन की दिशा में श्री गडकरी ने पिछले दिनों दिनों सम्मानित भी किया था जिनमे धार जिले के धामनोद की सुश्री सीमा मिश्रा भी थीं।

सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्री नितिन गडकरी ने केवीआईसी की उपलब्धि की सराहना की और कहा कि स्थानीय रोजगारों के सृजन से देश की अर्थव्यवस्था को प्रभावित करते हुए लाखों लोगों को आजीविका मिलेगी।

2020-21 के दौरान 2,120.81 करोड़ रुपये के धन संवितरण के लक्ष्य को लेकर केवीआईसी ने 2,188.78 करोड़ रुपये वितरित किए और 103.2 प्रतिशत लक्ष्य को हासिल किए। 2019-20 की तुलना में 14 प्रतिशत अधिक धन संवितरण किया गया। नई परियोजनाओं और रोजगार सृजन में केवीआईसी ने लक्ष्य का 106.2 प्रतिशत हासिल किया।

केवीआईसी के अध्यक्ष विनय कुमार सक्सेना ने इस उपलब्धि का श्रेय प्रधानमंत्री के “अत्मानिर्भर भारत” और “वोकल फॉर लोकल” और एमएसएमई मंत्री श्री नितिन गडकरी के निरंतर मार्गदर्शन और समर्थन को दिया।

स्थानीय विनिर्माण को बढ़ावा देने को लेकर सरकार के जोर ने कई युवाओं, महिलाओं और पिछड़े लोगों को पीएमईजीपी के तहत स्वरोजगार गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए प्रेरित किया है।

काम को समय से निपटाने को लेकर केवीआईसी द्वारा लिए गए दो प्रमुख निर्णयों ने भी इसमें मदद की। सबसे पहला, अपने राज्य निदेशकों द्वारा बैंकों को आवेदनों की जांच और उसे आगे बढ़ाने की समय सीमा 90 से घटाकर 26 दिन कर दी गई। दूसरा, बैंकों के साथ मासिक समन्वय बैठकें विभिन्न स्तरों पर शुरू की गईं, जिससे लाभार्थियों को ऋणों के समय पर वितरण में मदद मिली है।(updated on 3rd April 2021)

==============
PLEASE NOTE :: More Past News you can see on our "PAST NEWS" Coloumn