NEW DELH- Daughter Has Equal Right to Ancestral Property ///NEW DELHI- KVS Admission First Merit List 2020 HIGHLIGHTS: Merit list to be available at 6 am on August 12///NEW DELHI.Current academic session not likely to be treated as zero year, govt tells parliamentary panel////New Delhi:-Webinar Organised On Technology Aspects of Remote Voting//////NEW DELHI. Over 75% of persons with disabilities are dealing with emotional challenges while 64% facing severe financial problems: EVARA Survey/////
粉嫩公主酒酿蛋除了美胸丰胸的效果酒酿蛋丰胸,还能够滋补身体,补充气血,让乳腺健康,缓解痛经等作用丰胸产品,让你由内而外的调养自己,呈现健康的更好状态粉嫩公主酒酿蛋正品价格。这款产品效果明显,食用简单方便,那么酒酿蛋丰胸有没有副作用呢丰胸方法
Latest

100 हाईली इफेक्टिव प्रिंसीपल' अवार्ड से डा. अँजली धर
100 हाईली इफेक्टिव प्रिंसीपल' अवार्ड से डा. अँजली धर सम्मानित

नई दिल्ली। - पिठले दिनों अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर देश के '100 हाईली इफेक्टिव प्रिंसीपल' अवार्ड से नई दिल्ली में 'एकेएस एजुकेशन अवार्डस' द्वारा डा. अँजली धर को सम्मानित किया गया।

डा. धर को '100 हाईली इफेक्टिव प्रिंसीपल अवार्ड', उनके शिक्षा एवं समाज-कल्याण के क्षेत्र में सालों से उत्कृष्ठ प्रदर्शन एवं सराहनीय योगदान को सम्मानित करते हुए दिया गया है । इंडियन एजुकेशन कांकलेव द्वारा देश के 29 राज्यों एवं एशिया के विभिन्न स्कूलों से 100 सर्वाधिक प्रभावशाली प्रिंसीपल का चयन किया गया। इस अवार्ड के लिए अवार्डी को कडी़ परीक्षा से गुजरना होता है। उसके कार्य, कार्य-अनुभव, इत्यादि का विश्लेषण एवं मूल्यांकन किया जाता है। कार्यरत सभी संस्थाओं, यहाँ तक की अभिभावकों से भी नामांकित व्यक्ति का फीड-बैक लिया जाता है।

अंजली धर समय-समय पर शिक्षण से सम्बंधित वर्क-शाप तथा मोटिवेशनल स्पीच के ज़रिए लोगों में शिक्षा एवं समाज-सुधार के प्रति जागरुकता फैलाने के प्रयासरत् रहती हैं। बोर्ड परीक्षा में अच्छे रिज़ल्ट एवं सुधार लाने के लिए उन्हें 'क्रिस्टल सीरीज़' के सेम्पल पेपर का ब्रांड अंबेस्डर नियुक्त किया गया है। यह सीरीज अमेज़न पर खासतौर से उपलब्ध है, जिसके द्वारा विशेष-तौर पर कामर्स स्ट्रीम के छात्र लाभान्वित् हो सकते हैं।

'अपराजिता शक्ति सम्मान' एवं 'वूमन इंस्पिरेशन' की मिसाल, अंजली धर शिक्षा के माध्यम से तो समाज में बदलाव ला ही रही हैं, साथ ही 20 वर्षों से अधिक 'आल इंडिया रेडियो' में आरजे रहने के बावजूद, वे अपने बेहतरीन लेखन, वर्क-शाप एवं मोटिवेशनल स्पीच के जरिए समाज-सुधार के लिए निरंतर प्रयास-रत हैं। इसका जीता-जागता उदाहरण, उनका सोशल ब्लाग 'दिल की बात विद आरजे डा. अँजली धर' है। अपने इन्ही निरंतर सार्थक प्रयास की बदौलत उन्हें 'वुमन इन मीडिया अवार्ड' से भी सम्मानित किया गया। इससे पहले भी वे 'हिन्दुस्तान की युवा नारी सम्मान', 'अंतर्राष्ट्रीय कव्यित्री', 'योग्यता पुरस्कार', 'वाओ- वूमन आफ विंग्स', 'सुपर एचिवर', इत्यादि से सम्मानित हो चुकी हैं।

'नोबल एशियन अवार्ड', 'ग्लोबल आइकान', इत्यादि अवार्ड से सम्मानित डा. अँजली धर, अनेकों सामाजिक-संस्थाओं एवं एनजीओ के द्वारा समय-समय पर सामाजिक चेतना एवं कल्याण कार्यों में 'बेटी बचाओ, बेटी पढाओ', 'पर्यावरण संरक्षण', 'शिक्षा- सभी का अधिकार', 'स्वच्छ भारत, स्वस्थ भारत' इत्यादि पर जोर देती रहती हैं। मिसेज इंडिया गुजरात 2018 की विजेता रह चुकी, डा. अँजली धर, हाल ही में सौन्दर्य-प्रतिभाओं को प्रोत्साहित करने के लिए अंंतर्राष्ट्रीय संस्था सिंगापुर पोलिटन की ओर से 'गेस्ट आफ आनर' भी दिया गया। वे 'एस्थेटिक' नामक अंंतर्राष्ट्रीय संस्था द्वारा ब्रेस्ट केंसर उन्मूलन, आधुनिक शिक्षा के नये आयाम, विभिन्न क्षेत्रों में योगदान दे रही प्रतिभाओं को अंतर्राष्ट्रीय स्तर-पर सम्मान देकर, इत्यादि कार्यक्रमों द्वारा समाजिक सहयोग में योगदान दे रही हैं।

अंजली धर का कहना है कि केंसर जैसी बीमारी मानव-जीवन के लिए अभिशाप है। दुख की बात यह है कि इस बीमारी से ज्यादा, ग्रसित व्यक्ति इसके इलाज से ज्यादा दर्द पाता है। साथ ही इसके जड़ से खत्म होने की आज भी कोई गारंटी नही है, अतः वे वर्ल्ड पीएचडी जैसी नाम-चीन संस्थाओं की ब्रांड अंबेसडर बनकर समय-समय पर स्वस्थ-जीवन, योग, पर्यावरण-संरक्षण, इत्यादि को प्रोत्साहित करती रहती हैं। उनका मानना है कि मानव-जीवन ईश्वर की सबसे सुंदर देन है, अतः हमें इसे ईश्वर का दिया उपहार समझकर, अच्छे कार्यों एवं जन-कल्याण में लगाना चाहिए।

शिक्षा, मीडिया, समाज-कल्याण, इत्यादि के अलावा, उन्हें खु़द क्या पसंद है, यह पूछने पर उन्होने बताया कि उन्हें संगीत से खा़स लगाव है। यह उनकी आत्मा का महत्वपूर्ण हिस्सा है, जिसकी धुन व ताल से उनकी दुनिया चलती है व जीवन में निरंतर आगे बढने को प्रोत्साहित् करती है। इसके अलावा 'बैडमिंटन' उनका पसंदीदा खेल है, जिसे वे नेशनल तक खेल चुकी हैं। उन्हें 'योगा' से भी खास लगाव है, क्योंकि यह शरीर के साथ मन-मस्तिष्क को भी स्वस्थ रखता है, लेकिन इसे एक्सपर्ट की देख-रेख में ही सीखना चाहिए, वरना नुकसान हो सकता है। उनका मानना कि हमें पढाई के नाम पर बच्चों को खेलों से दूर नहीं करना चाहिए। उनके सर्वांगीय विकास के खेल भी अत्याधिक आवश्यक हैं। इसके अलावा वे पाक-कला का भी शौक रखती हैं, जिसके चलते, वे विश्व-विख्यात् शैफ संजीव कपूर के 'मास्टर शैफ 2011' की पार्टिसिपेंट भी रह चुकी हैं। उनका मानना है कि भारतीय रसोई किसी मेडिकल स्टोर से कम नहीं, इसकी पूरी जानकारी व सही खान-पान द्वारा कई प्रकार की जानलेवा बीमारियों से बचा जा सकता है और स्वस्थ भी रहा जा सकता है। जरूरत है, तो थोडा़ जागरूक होने की।

PLEASE NOTE :: More Past News you can see on our "PAST NEWS" Coloumn