BHOPAL- Tagore International Literature and Arts Festival to held from November 7 in Bhopal////ग़ाज़ियाबाद पब्लिक स्कूल मे चैंपियनशिप का शुभारम्भ एस पी सिंह ने किया///RANCHI- Class Nur of DPS Did an Informative Activity on Post Office////नई दिल्ली :-बैंक ने पासबुक पर लिखा, खाते में एक लाख से ज्यादा हुए तो जिम्मेदारी नहीं/////// --------- NEW DELHI- 7 Indians on 100 Most Influential Women 2019 list////NEW DELHI- Defence Minister Gives Nod For Girls's Admission In Sainik Schools////KOCHI-ULTS, Dutch Research Firm TNO Join Hands For Consultancy, Training Services////NEW DELHI-Dr Jitendra Singh inaugurates 11th Nuclear Energy Conclave///RANCHI- Human Library Session conducts by Dr. Vinay Bharat///DUBAI-- Indian schools in UAE making Indian dance, music lessons compulsory///Mary Kom caught in Olympic qualification row in India//Karnataka college students made to wear cardboard boxes during exam to prevent cheating///Jammu and Kashmir administration announces exams for Class 5 to 12///RANCHI.-DPS observed “Swachhta se Poshan” week ///RANCHI- Class Prep of DPS did Activity on the Importance of Natural Resources////// ===
Member's Article

बलदेव धीमान
भारत और पाकिस्तान के सम्बंधों के बारे में वर्तमान स्थिति की चर्चा करने से पहले शायद यही उचित होगा कि 1947 में जब पाकिस्तान आस्त्वि में आया था उसी समय भारत पाकिस्तान के आपस में कैसे सम्बन्ध रहे । यह तो वही हाल है जब भाई से भाई अलग होता है। और एक दूसरे के वो विना वजह दुश्मन बन जाते है।

भारत के अलग होते ही पाकिस्तान ने भारत के कश्मीर क्षेत्र में नाजायज कब्जा किया और तभी से भारत में आंतकवादी भेजकर आज तक भारत को आँखें दिखाने का काम किया । ताकि भारत में अस्थिरता बनी रहे और पीओके पर उनका कब्जा बना रहे। आज तक भारत में जिस भी पार्टी की सरकार रही शायद वो दृढ़ इच्छा शक्ति नहीं सामने आई जो वर्तमान सरकार में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने दिखाई और पाकिस्तान को उसकी औकात दिखाने के साथ साथ भारत की सेना की छवि और सैनिकों के आत्मबल को भी और बल मिला ।

वर्तमान प्रधानमंत्री ने जो एक बात 2014 में कही थी कि ‘‘राष्ट्र पहले ’’ को भी सार्थक किया । आज भारतीय जनता में देश प्रेम और राष्ट्र भक्ति की भावना पहले से कहीं अधिक मजबूत हुई है। प्रत्येक व्यक्ति के मन में ‘ मेरा भारत महान ’ नारे से ऊपर उठकर वास्तविक स्थिति में आया है। आंतकवाद का दंश उन सैनिकों के घरों में जाकर देखना चाहिए जिन्होंनें देष के लिए अपना चिराग न्योछावर किया है । नये नेता व पार्टी क्या जाने जिन्होंनें अपने घर संवारने और पार्टी को खानदानी जागीर बना रखा हो ।

शायद आज वो आतंकवाद को समाप्त करने के प्रधानमंत्री के संकल्प से सहमत न हो । परन्तु उन्हें आतंकवाद से प्रभावित अपने परिवार की कुर्बनियों को भी याद करना चाहिए तभी सर्जिकल स्ट्राइक -2 के सबूत मांगने चाहिए । इस समय सभी पार्टियों के नेताओं को एक जुटकर होकर आतंकवाद को बढ़ावा देने वाले देश पर किए प्रहार का खुलकर समर्थन करना चाहिए न कि बात -बात पर सबूत मांगने चाहिए । अतः प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा लिया गया यह कड़ा फैसला सराहनीय है और जनता में अगर विवेक होगा कि ऐसे प्रधानमंत्री के हाथों देश सुरक्षित है तो निश्चित तौर पर आगे आने वाले चुनावों में इसी पार्टी को ही लाभ मिलेगा और आगे आने वाले समय में भारत को विष्वगुरू बनने से कोई भी नहीं रोक पाएगा । यही सच्चा देष प्रेम और राष्ट्रभक्ति है। देष है तो हम है। अगर देष ही नहीं जो फिर हम कहाँ । पार्टी से कहीं ऊपर है देश भक्ति ।

‘ जय हिन्द ’

--------------

WRITER'S DETAILS

बलदेव धीमान
Retired Principal,
Sanjeeveni Charitable Trust,
Village Kakriana, PO Didwin, Tikkar, District, Hamirpur, HP
Email : baldev48dhiman@gmail.com

============