NEW DELHI- Rashtrapati Bhavan hosts meeting of VCs, Directors and Heads of 19 Central Institutes of Higher Learning////NEW DELHI-Water storage level of 91 major reservoirs of the country goes up by four percent////CHANDIGARH:-Haryana Decides To Increase Salary Of Guest Teachers////नई दिल्ली :-सोशल मीडिया कंटेंट की निगरानी को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई सरकार को फटकार////जयपुरः इंडिया इंटरनेशनल स्कूल में सोलो डांस कॉम्पिटीशन आयोजित////CHANDIGARH-'Male Teachers Shouldn't Come to School in Kurta-pyjamas,' Suggests Punjab Education Minister////SOLAN-Yoga instructors from this Himachal-based university to train Chinese trainers/////NEW DELHI-ASI issues order to permit photography within the premises of centrally protected monuments/sites.///NEW DELHI-Chancellor of Central University Jammu, Shri G. Parthasarathy calls on MoS Dr Jitendra Singh////NEW DELH0-10 फीसद से ज्यादा फीस नहीं बढ़ा सकेंगे निजी स्कूल-प्रियंका कानूनगो ////NEW DELHI-Global macros positive for exports; but need to be watchful on tariff war-Ravi Sehgal ///Century’s Longest Total Lunar Eclipse on July 27-28;///NEW DELHI-182 School Dropouts, Madrasa Students Pass Bridge Course Offered By Ministry Of Minority Affairs//नई दिल्ली: जेएनयू में शिक्षकों के लिए भी हाजिरी अनिवार्य///SURAT.-कृष्णा स्कूल में भारतीय लोकतंत्र व्यवस्था की जानकारी दी गई //पटना-प्राइवेट स्कूल्स एंड चिल्ड्रेन वेलफेयर एसोसिएशन की ओर से सम्मान समारोह ///रांची यूनिवर्सिटी-शिक्षकों को वेतनमान पर सैद्धांतिक सहमति- वीसी डॉ. रमेश कुमार पांडेय ///दुर्ग--कामधेनु यूनिवर्सिटी -डॉ. दक्षिणकर नारायण पुरुषोत्तम को कुलपति की जिम्मेदारी ///मंडी--केटीएस पब्लिक इंटरनेशनल स्कूल की निशा ने नाम रोशन किया ///चंडीगढ़-टेंडर हार्ट स्कूल के स्टार्स ने जीता डबल टीटी टाइटल///सोनीपत-दीनबंधु छोटू राम विवि ने प्राचीन धरोहरों के संरक्षण की दिशा में कदम बढ़ाए///सोनीपत- सोनिया आर्य मेमोरियल लिटल एंजल्स स्कूल के खिलाड़ियों का बेहतर प्रदर्शन//// इंदौर- प्रेस्टीज पब्लिक स्कूल में नवनिर्वाचित परिषद ने ली शपथ ///भोपाल-हेमा स्कूल में नव निर्वाचित छात्र संघ शपथ ग्रहण समारोह ////लुधियाना| -सत पॉल मित्तल स्कूल में स्पेशल सेशन ///अमृतसर| -सब जूनियर नेशनल खेलकर लौटी फुटबॉल टीम ////कोटा|-तिलक स्कूल की 55 छात्राओं को गार्गी पुरस्कार ////कोटा| -एमबी इंटरनेशनल में मनाया विश्व जनसंख्या दिवस ////HYDERABAD-Scientific Organizations should work in synergy and not in silos: Vice President/// //// NEW DELHI.-दुनिया की छठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बना भारत, फ्रांस हुआ पीछे////हरियाणा : दुष्कर्म और छेड़छाड़ के आरोपियों को नहीं मिलेगी सरकारी सुविधाएं///lEH LADDAKH/ NEW DELHI-22 school children from Leh ( J&K) meet the MoS Home, Kiren Rijiju///दिल्ली : एसडी पब्लिक विद्यालय की छात्रओं ने जीती योग की चैंपियन ट्रॉफी////CHANDIGARH. -Dr Dmitrii N. Gabyshev of Russia visited Panjab University ///देहरादून- उत्तराखंड के 34 मेधावी छात्र-छात्रओं को राजभवन में सम्मानित किया ///NEW DELHI.-Intramural Football tournament (Girls) ends at DPS Ranchi///PATNA.-योग से व्यक्तित्व में आएगा विकास, बदलेगा समाज///NEW DELHI-NEET Counselling 2018: 2nd Allotment Postponed For All India Quota Seats After Madras High Court Order///NEW DELHI. -JNU to start special centre for study of Northeast India///////नई दिल्ली :- विवाहेतर संबंध में महिला को भी दंडित करने पर हो रहा विचार///MANDI(HP):-IIT Mandi Helps Rural Women To Become Entrepreneurs///

Private University Denied Permission To Conduct Agriculture Science Courses////CBSE Contemplates Challenging Madras High Court's NEET Grace Marks Order///DMER, Maharashtra Releases Centre List For Phase 2 Document Verification For NEET Counselling///National School of Drama to set-up new centre in Varanasi////... Army Law College receives Bar Council approval, to be inaugurated on July 16///Examination for Confirmation of Enrollment of GST Practitioners////KVPY 2018: Online Registration Begins, Last Date August 31///Dada Vaswani dies at 99////Railway: 90 हजार पदों पर आवेदन करने वाले चेक करें लिस्ट में आपका नाम है या नहीं/////// DU Admission 2018: Fifth Cut-Off Lists Released////नेशनल स्कूल गेम्स सितंबर से////Russian cargo ship makes history with record-breaking trip to ISS///All 13 rescued from flooded Thai cave: navy SEAL unit///CBSE Asked To Grant 196 Marks For 49 Erroneous Tamil Questions In NEET 2018////Delhi Government To Send 400 School Teachers To Singapore For Training//////

Article

जानिए १० के बाद कौन से विषयों का चयन करना है
(AMIT SEHGAL)

दसवीं के सी बी एस ई का रिजल्ट आने को है ! स्कूल के विद्यार्थी का जीवन भी उत्तार चढ़ाव वाला होता है, फरवरी - मार्च में इग्ज़ाम्स की टेंशन तो मई में उसके नतीजे का इंतज़ार | फिर पास होने के बाद उन्हें एक विषय का चुनाव करना होता, और दसवीं पास करने के बाद विधार्थी जो विषय लेता है वही विषय उसके भविष्य की नीव होती है | बहुत से छात्र-छात्राओं को यह तय करने में बहुत परेशानी होती है | कई बार जल्दबाजी या अधूरी जानकारी में कोई सा भी विषय ले लेते है, जिसमे रूचि नहीं होती है |

अगर आपमें से जिन्होंने ने भी दसवीं की परीक्षा पास की है तो आपके मन में भी यही सवाल चल रहा होगा की दसवीं के बाद क्या करूँ, जिससे मेरा भविष्य सुरक्षित हो जाए और में अपने क्षेत्र में सफलता हासिल कर पाऊं जिससे मुझे समाज में एक अलग पहचान मिल सके | विषय का चयन करते समय अपनी रुचि का विशेष ध्यान दें। महज अच्छे स्कोप के चक्कर में कोई ऐसा विषय न चुनें जिसमें आपकी बिल्कुल भी रुचि न हो। विषय का चयन करते समय अपने पैरेंट्स, टीचर और बड़ों की सलाह अवश्य लें। हर जगह से अलग-अलग सलाह मिलने पर कंफ्यूज न हो, अपनी बुद्धि और विवेक का इस्तेमाल करें। अगर आप कुछ भी डिसाइड नहीं कर पा रहे हैं तब करियर काउंसलर की मदद लें। किसी भी विषय को लेने से पहले उसके बारे में पूरी जानकारी हासिल करें कि 12वीं के बाद उसका क्या स्कोप है, उससे रिलेडेट अच्छे कॉलेज के बारे में पता करें।

अपना उद्देश्य निश्चित करें कि भविष्य में आपको क्या बनना है और उसी गोल की ओर बढ़ें। अगर आप अपनी हॉबी को अपना प्रोफेशन बनाना चाहते हैं तब उस से संबंधित विषय का चयन करें। अपने दोस्तों की देखा-देखी न करें। आप जो विषय लेना चाहते हैं उसके बारे में अपनी ताकत, कमजोरी, संभावनाएं और खतरों के आधार पर अपना आकलन जरूर करें। अतिरिक्त विषय का चयन तभी करें जब आप उस पर ध्यान दें सकें अन्यथा सिर्फ एक ही विषय का चयन करें और उसी पर अपना ध्यान केंद्रित करें।

हमारे देश में 10वी कक्षा के बाद हमारे पास सभी विषयों में से किसी एक विषय को चुनने का विकल्प खुल जाता है |
दसवीं पास करने के बाद आमतौर पर तीन विषय होते है, जिनमे से किसी एक का चयन करना होता है | हम जिस विषय का चयन अब करते है उनका ही अध्ययन हमे कक्षा 11वी और कक्षा 12वी तक करना होता है, और इन्ही विषयों के आधार पर हम कक्षा 12वी पास करने के बाद कॉलेज और आगे की पढाई करते है और अपने करियर की डगर पर चलते है |
पहला सब्जेक्ट है साइंस ///दूसरा सब्जेक्ट है कॉमर्स //// तीसरा सब्जेक्ट है आर्ट्स///

ज्यादा मार्क्स आए हैं, तो मैथ्स साइंस चुनना, एवरेज परफॉर्म करने पर कॉमर्स और कम अच्छे मार्क्स आने पर आर्ट्स लेने की सोच गलत है। इस साल बारहवीं कक्षा की दोनों सी बी एस ई टॉपर्स आर्ट्स यानि हुमानिटीज़ की स्टूडेंट्स हैं जिन्होंने ५०० में से क्रमशः ४९९ और ४९८ अंक हासिल कर रैंक १ एंड २ पर कब्ज़ा जमाया है |

साइंस (विज्ञान)
साइंस एक ऐसा विषय (स्ट्रीम) है जिसको लगभग सभी स्टूडेंट पहली पसंद होता है, अगर आप आगे चल के डॉक्टर या इंजीनियर बनना चाहते है, तो आपको साइंस फ़ील्ड चुननी पड़ेगी, साइंस में थोडा ज्यादा मुश्किल सिलेबस होता है | साइंस में 3 तरह के ग्रुप होते है: -
फिजिक्स, केमिस्ट्री, बायोलॉजी (PCB)//फिजिक्स, केमिस्ट्री, मैथ (PCM)///जनरल ग्रुप (PCMB): फिजिक्स, केमिस्ट्री, मैथ, बायोलॉजी///


साइंस में कोन कोन से सब्जेक्ट होते है: -
· · फिजिक्स (Physics)///· केमिस्ट्री (Chemistry)//· बायोलॉजी (Biology)//· मैथमैटिक्स (Mathematics)//· कंप्यूटर साइंस (Computer science)///· बायोटेक्नोलॉजी (Biotechnology) etc///

अगर आपको मेडिकल फ़ील्ड जैसे – एम् बी बी एस, बी फार्मेसी, डी फार्मेसी आदि में जाना है, तो साइंस फ़ील्ड में हमें फिजिक्स, केमिस्ट्री, बायोलॉजी (PCB) ग्रुप लेना पड़ेगा | और अगर आपको इंजीनियरिंग करनी है तो फिजिक्स, केमिस्ट्री, मैथ (PCM) ग्रुप सिलेक्ट करना होगा, (PCM) ग्रुप वाले इंजीनियरिंग के अलावा और भी कई क्षेत्रो में जा सकते है | और हाँ आपको बता दे की (PCMB) वाले स्टूडेंट दोनों फ़ील्ड (मेडिकल फील्ड) और (इंजीनियरिंग फील्ड) में जा सकते है | मैथ्स ग्रुप में फिजिक्स, केमेस्ट्री, मैथ्स, हिन्दी, अंग्रेजी सब्जेक्ट में पढ़ाई होती है। 12वीं के बाद इंजीनियरिंग तो मेन है ही, इसके साथ ही साइंटिस्ट, साइंस स्पेशलिस्ट्स (विभिन्न सेक्टर्स में), डिफेंस (सभी सेनाओं के लिए) जियोलॉजी, एरोनॉटिकल्स, रिमोट सेंसिंग, इन्फॉर्मेशन टेक्नॉलॉजी, रोबोटिक्स, मैन्युफैक्चरिंग और प्रोडक्शन में भी करियर के बारे में आप सोच सकते हैं। ये विज्ञान में हाथ आजमाने की हसरत रखने वालों के लिए बेस्ट सब्जेक्ट है। बायोलॉजी ग्रुप में फिजिक्स, केमेस्ट्री, बायोलॉजी, हिन्दी और अंग्रेजी सब्जेक्ट्स होते हैं। बायोलॉजी, डॉक्टर (एलोपैथी, होम्योपैथी या आयुर्वेद) और हेल्थ सर्विसेज में आपके लिए करियर के दरवाजे खोलती है। इसके अलावा नेचरोपैथी, फिजियोथैरेपी, डेंटिस्ट, पैरामेडिकल और नर्सिंग फील्ड, स्पीच पैथोलॉजिस्ट, बायो टेक, फार्मेसी, हॉस्पिटल मैनेजमेंट, हेल्थ इन्वायरमेंट, बायो केमेस्ट्री, केमिकल, जियोग्राफी, क्रिएटर, रिसर्चर, कार्टोग्राफर और टीचर भी बन सकते हैं।

साइंस कैटगरी की इसकी पढ़ाई के लिए सबसे बेहतरीन कॉलेज हैं: -
1. मिरांडा हाउस, दिल्ली////2. हिंदू कॉलेज, दिल्ली//3. सेंट स्टीफंस कॉलेज, दिल्ली///4. किरोड़ी मल कॉलेज, दिल्ली//5. लोयोला कॉलेज, चेन्नै//6. मद्रास किश्चन कॉलेज, चेन्नै///7. हंसराज कॉलेज, दिल्ली///8. डिपार्टमेंट ऑफ साइंसेज़, क्राइस्ट, बेंगलुरु///9. स्टेला मारिस कॉलेज, चेन्नै////10. विमिन्स क्रिश्चन कॉलेज, चेन्नै.///

कॉमर्स (वाणिज्य)
कॉमर्स एक ऐसा विषय है जो 10वी पास करने के बाद सबसे ज्यादा लिया जाता है, कॉमर्स वाला विद्यार्थी बिज़नेस, फ़ाइनेंसर, एकाउंट्स आदि में जा सकता है |
कॉमर्स में कोन कोन से सब्जेक्ट होते है: -
· · एकाउंटेंसी (Accountancy)///· इकोनॉमिक्स (Economics)///· बुस्सिनेस स्टडीज (Business Studies)///· मैथमैटिक्स (Mathematics)///· इंग्लिश (English) etc.///

जिन स्टूडेंट को एकाउंटिंग और फाइनेंस क्षेत्र में रूचि है उनके लिए कॉमर्स फ़ील्ड सबसे अच्छी है, और अगर आप CA बनना चाहते है तो आपके लिए कॉमर्स फ़ील्ड बेस्ट है | कॉमर्स फ़ील्ड में आगे चल के हम बी कॉम, एम् कॉम, बी बी ऐ, एम् बी ऐ जैसी प्रोफेशनल कोर्स के साथ ग्रेजुएशन भी पूरा कर सकते है, बैंकिग की एग्जाम के लिए भी कॉमर्स स्ट्रीम सबसे बेहतर विकल्प है | इस विषय को चुनने के साथ ही आप अपने करियर की संभावनाओं को एक अच्छा रूप दे सकते हैं। बतौर सीए, सीएस, एमबीए, ट्रेजरी मैनेजमेंट, बैंकिंग, सीएफए, शेयर सिक्योरिटी, मार्केटिंग, सेल्स, रिटेल, बिजनेस मैनेजर, एनालाइजर, एडवर्टाइजर, इकोनोमिस्ट और इटरप्रिन्योर भी आप अपने करियर को प्लान कर सकते हैं। कॉमर्स स्ट्रीम में पिछले कुछ समय से स्टूडेन्ट्स की दिलचस्पी बढ़ी है। बिजनेस रिलेटेड स्टडीज में दिलचस्पी रखने वाले इस सब्जेक्ट को चुनकर अच्छा करियर बना सकते हैं।

कॉमर्स के सबसे टॉप कॉलेज: -
1. श्री राम कॉलेज ऑफ कॉमर्स (SRCC), दिल्ली///2. हिंदू कॉलेज, दिल्ली///3. लेडी श्रीराम कॉलेज फॉर विमिन, दिल्ली////4. हंसराज कॉलेज, दिल्ली////5. डिपार्टमेंट ऑफ कॉमर्स, क्राइस्ट, बेंगलुरु///6. लोयोला कॉलेज, चेन्नै////7. किरोड़ी मल कॉलेज, दिल्ली///8. मद्रास क्रिश्चन कॉलेज, चेन्नै//9. सेंट जोसफ्स कॉलेज ऑफ कॉमर्स, बेंगलुरु///10. मीठीबाई कॉलेज, मुंबई///



आर्ट्स (कला)
आर्ट्स स्ट्रीम भी एक अच्छी स्ट्रीम होती है, अगर आपको कला के क्षेत्र में अपना करियर बनाना है, तो आपके लिए आर्ट्स फ़ील्ड बेहतर विकल्प है |
आर्ट्स स्ट्रीम (Arts Stream) में कोन कोन से सब्जेक्ट मिलेंगे: -
· · हिस्ट्री (History)//· इंग्लिश (English)///· जियोग्राफी (Geography)///· साइकोलॉजी (Psychology)///· पोलिटिकल साइंस (Political Science)///· इकोनॉमिक्स (Economics)///· संस्कृत (Sanskrit)//· सोशियोलॉजी (Sociology) etc.///· फिलोसोफी (Philosophy)///


जो विद्यार्थी सरकारी नौकरी के लिए प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी करना चाहते है, उनके लिए आर्ट्स फ़ील्ड सबसे अच्छी और बेहतर है | आर्ट्स के 12वी पास करने के बाद भी आप कई कोर्स कर सकते है जैसे फैशन डिज़ाइनिंग, होटल मैनेजमेंट एंड इवेंट मैनेजमेंट, मास कम्यूनिकेशन एंड जर्नलिज्म आदि | विषय चयन के साथ आप म्यूजिक, एक्टिंग, पेंटिंग, राइटिंग, एनिमेशन, डिजाइनिंग, फोटोग्राफी, जर्नलिज्म, एडवरटाइजिंग, इवेंट मैनेजमेंट, सिविल सर्विसेज, लॉ, टीचिंग और बैंकिंग में अपने करियर को दिशा दे सकते हैं। जिन्हें इतिहास, भूगोल, राजनीति शास्त्र, अर्थशास्त्र, समाज शास्त्र में दिलचस्पी हो, वे 10वीं के बाद आर्ट की पढ़ाई कर सकते हैं।


आर्ट्स की कैटगरी की पढ़ाई के लिए भारत में सबसे अच्छे कॉलेज हैं: -
1. सेंट स्टीफंस कॉलेज, दिल्ली///2. लेडी श्रीराम कॉलेज फॉर विमिन, दिल्ली///3. हिंदू कॉलेज, दिल्ली///4. मिरांडा हाउस, दिल्ली////5. किरोड़ी मल कॉलेज, दिल्ली//6. मद्रास किश्चन कॉलेज, चेन्नै///7. डिपार्टमेंट ऑफ ह्यूमैनिटीज़ ऐंड सोशल साइंसेज़, क्राइस्ट, बेंगलुरु///8. लोयोला कॉलेज, चेन्नै////9. हंसराज कॉलेज, दिल्ली////10. सेंट जेवियर्स कॉलेज, मुंबई///


शायद अब आपको समझ आ गया होगा की दसवीं के बाद कोनसा सब्जेक्ट लें, लेकिन अगर आप इन सभी विषयों को छोड़कर किसी अन्य फील्ड में जाना चाहते है तो आप प्रोफेशनल कोर्स / डिप्लोमा भी कर सकते है जैसे: पॉलिटेक्निक, आईटीआई आदि
पॉलिटेक्निक - जो स्टूडेंट इंजीनियरिंग करने की चाह रखते है, उनके लिए ये डिप्लोमा है, पॉलिटेक्निक में इंजीनियरिंग जैसी ही फ़ील्ड होती है, हम दसवीं कक्षा पास करने के बाद पॉलिटेक्निक में एडमिशन ले सकते है, पॉलिटेक्निक 3 साल का डिप्लोमा है | पॉलिटेक्निक में हमे अपनी मर्ज़ी की फ़ील्ड चुन सकते है. जैसे मैकेनिकल, कंप्यूटर, इलेक्ट्रॉनिक्स आदि पॉलिटेक्निक करने के बाद हमे इंजीनियरिंग में डायरेक्ट सेकंड ईयर (द्वितीय वर्ष) में एडमिशन मिल जाता है |
आईटीआई - अगर आप कम समय पढ़कर जल्दी से नौकरी करना चाहते है तो 10 वी पास होने के बाद आईटीआई कर सकते है, आईटीआई में अलग-अलग ट्रेड और कोर्स होते है, आईटीआई में 1 साल, 2 साल के कोर्स होते है | आपको जिस विषय में रूचि है वो ट्रेड आप सेलेक्ट कर सकते है, आईटीआई करने से सरकारी नौकरी के भी अधिक अवसर होते है |

बस इस बात को बिल्कुल मत भूलें कि सब्जेक्ट पर्सनल इंटरेस्ट, स्किल और एप्टीट्यूट के आधार पर चुनना चाहिए।
लेकिन हम आपको यही सलाह देगें, कि आप किसी के पीछे या किसी को देखकर कोई कोर्स ना चुने बल्कि जिस विषय में आपकी रूचि है आपका सपना है, उसी विषय का चयन करे |
-----------


VIEWS EXPERT BY:


अमित सहगल
प्रिंसिपल - द स्कॉलर्स वैली, धामपुर
लेखक, ब्लॉग राइटर और ऑथर - जी. के. सीरीज बुक्स (1st to 8th)


==============
PLEASE NOTE :: More Past Articles you can see on our "PAST ARTICLES" Coloumn